Breaking News
utkal express train accident pti 650x400 71503163631

सरकार ने माना रेलवे की लापरवाही की वजह से हुई दुर्घटना

utkal express train accident pti 650x400 71503163631train size

नेशनल वार्ता ब्यूरो (20-08-2017)

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में शनिवार शाम पुरी-हरिद्वार उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन के १४ डिब्बे पटरी से उतर जाने के कारण कम से कम २4 यात्रियों की मौत हो गई और 100 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए. उत्तर प्रदेश पुलिस ने बताया कि दुर्घटना में कम से कम २३ लोग मारे गए हैं. इधर सरकार ने मान लिया है कि हादसे के पीछे रेलवे की लापरवाही बड़ी वजह है. जिस समय हादसा हुई उस समय वहां पर ट्रैक मरम्मत का काम चल रहा था. वहीं सरकार ने हादसे के पीछे आतंकी साजिश से इनकार कर दिया है. ऐसी खबर आ रही थी कि ट्रेन हादसे के पीछे आतंकी साजिश भी हो सकती है. मुख्य मेडिकल अधिकारी पी. एस. मिश्रा और मेरठ जोन के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) प्रशांत कुमार ने बताया कि शाम ५.४५ बजे हुई इस दुर्घटना में कम से कम ११ लोग मारे गए और ६० जख्मी हुए हैं. खतौली मुजफ्फरनगर से करीब ४० किलोमीटर दूर है. पीएसी, एटीएस और एनडीआरएफ की टीमों को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया है. भारी-भरकम क्रेनों और गैस कटरों का इस्तेमाल किया जा रहा है. स्थानीय लोग भी बचाव कार्य में मदद कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) आनंद कुमार ने कहा कि तेजी से राहत और बचाव का काम सुनिश्चित करने को प्राथमिकता दी जा रही है. इस बीच, सक्सेना ने कहा, शुरुआत में हमने सोचा कि इसमें सिर्फ ४-५ डिब्बे शामिल हैं, लेकिन अब हमें पता चला है कि १४ डिब्बे पटरी से उतर गए. अभी हमारा फोकस दुर्घटना के कारण का पता लगाने में नहीं बल्कि बचाव के काम पर है.  कुमार ने कहा कि अंधेरे की वजह से बचाव अभियान में बाधा आने के कारण बिजली विभाग के अधिकारियों से कहा गया है कि वे सुनिश्चित करें कि बिजली आपूर्ति में कोई कमी नहीं हो. उन्होंने कहा कि मेरठ जोन में इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए) की शाखाओं को अलर्ट कर दिया गया है और घायलों को उचित इलाज सुनिश्चित कराने के लिए कहा गया है. एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुर्घटना की जानकारी ली और अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे हरसंभव कदम उठाएं. आदित्यनाथ ने अपने दो मंत्रियों को घटनास्थल पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं ताकि राहत और बचाव के काम में तेजी लाई जा सके. हादसे की भयावहता को इसी से समझा जा सकता है कि ट्रेन के डब्घ्बे एक-दूसरे पर चढ़ गये. बताया जा रहा है एक डब्बा एक घर में जा घुसा. बताया जा रहा है हादसा ५.४६ मिनट में हुई है. यह ट्रेन पुरी से रात ८.५५ में खुलकर तीसरे दिन हरिद्वार ८.५५ रात में पहुंचती है. अपनी यात्रा के दूसरे दिन यह झारखंड के कोल्हान इलाके से गुजरती है.

Check Also

सीएम धामी ने प्रदेश वासियों को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर दी बधाई एवं शुभकामनाएं

देहरादून (सू0 वि0)। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को दी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.