Breaking News
doon hospital tea time

अस्पताल में घर सा प्यार पाया अपनेपन का दुलार

doon hospital tea time

gaur

B. of Journalism
M.A, English & Hindi
सावित्री पुत्र वीर झुग्गीवाला द्वारा रचित- 
Virendra Dev Gaur Chief Editor (NWN)

अपनेपन की चाय मिली सुबह सवेरे लगती है भली 

बेचैन पड़ी किसकी यह बेटी
लाचार पड़ी किसकी यह अम्मा
मुसीबत में किसी की बहना
सुबह सवेरे प्यार भरा सहारा
हर कोई किसी मुसीबत का मारा
जन सेवा समिति का यह नारा
सोच यही मकसद ये हमारा
भेंट करो चाय का प्याला
ठंड में मिलता है सहारा
हर आदमी प्रेम का प्यासा
संतोष मिलता है खासा
पूरी करें सुबह की आशा
अपनेपन की देते चलो दिलासा।

-जय भारत      जय,जन सेवा समिति का चाय आन्दोलन

Check Also

सीएम धामी ने प्रदेश वासियों को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर दी बधाई एवं शुभकामनाएं

देहरादून (सू0 वि0)। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को दी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.