Breaking News
ganga yamuna ALLAHABAD

गंगा जमुना की दर्द भरी दास्तान (पार्ट-2)

ganga yamuna ALLAHABAD

गंगा मइया बहती जाए
बद से बदतर होती जाए
पाप हमारे धोती जाए
ज़हरीले औद्योगिक रसायन सीवर नाले-खाले
नीलकंठ बनी सब पीती जाए
मोटा पैसा जब-तब मइया के उद्धार को आए
हर-हर गंगे कहकर बंदरबाँट में खप जाए
गंगा मइया के जिम्मेदार बेटे-बेटियाँ बेहया हाए
बीमार गंगा मइया को इलाज के लिये तरसाए
मुर्दों की राख को माँ गंगा में बहाए और इतराए
फिर गंगा की आरती में शामिल हो जाए
माँ गंगा की आँखों में तू धूल झोंकता ही जाए
माँ गंगा पर तुझे ज़रा भी तरस न आए
वेदों उपनिषदों श्रीमद्भगवद्गीता के शाश्वत संदेश तू हवा में उड़ाए
उत्तर भारत के प्राण ‘‘गंगा-यमुना-परिवार’’ तिल-तिल कर मिटता जाए
गौमुख रेगिस्तान बनता जाए ग्लेशियरों पर भयानक संकट मँडराए
ग्लेशियर झीलों का फट-पड़ना हमें समझ न आए
केदारनाथ विध्वंस का दर्दनाक इतिहास हमें सबक सिखा न पाए
मूर्ख हमने हमसे बड़ा नहीं देखा हाए
माँ गंगा और माँ जमुना तुम दोनों को भी राम भरोसे छोड़ दिया देश ने चाहे-अनचाहे ।

                                                                  Virendra Dev Gaur

                                                                  Chief Editor (NWN)

                                                                   Mob.9557788256

Check Also

सीएम धामी ने प्रदेश वासियों को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर दी बधाई एवं शुभकामनाएं

देहरादून (सू0 वि0)। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को दी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *