Breaking News
Kashmir JAL RHA

यही होता है जल्लादी जिहाद

Kashmir JAL RHA

आपने दिया पाकिस्तान
कश्मीर माँगा जा रहा
कश्मीर आधा छीन लिया
कश्मीर आधा छिन रहा
लावा नफरत का उगल रहा
फिर उस हिस्से की माँग होगी
जहाँ उनकी आबादी का ज्वार चढ़ रहा
यह वो सुलगती आग है
जिसे बाबर और औरंगजेब सुलगा गए
ये वो बेचैन जिहाद है
जिसे बुतपरस्ती के जानी दुश्मन फरमा गए
नेहरू-गाँधी भरमा गए
हम उस चौराहे पर आ गए
चाहे सीमा पार वाले यहाँ के मुसलमानों को मोहाजिर कहें
चाहे भारत से गए मुसलमान वहाँ जिल्लत सहें
पर हम यहाँ के जिहादी मुसलमानों को पाकिस्तानी हरगिज ना कहें।
हमने सहा हम सहते रहें
उफ तक हम ना करें
लुटतें रहें पिटते रहें सलाम करते रहें
लोकतंत्र की आड़ में मुगलिया सल्तनत ढोते रहें
गाय कटवांए बछड़े कटवाएं झंडे तिरंगे जलाते रहें
गेरुए रंग पर रात-दिन हम लानत धरते रहें
तीन तलाक की कुप्रथा पर शोर जरा भी ना करें
मुसलमानों की तीन-तीन चार-चार शादियों पर तोहमत ना धरें
सरहद पर मर-मिटने वालों को शहीद हरगिज ना कहें
देश तोड़ने वालों को शहादत का दावेदार कहें
संसद पर हमला करें जो उन्हें हम भगत सिंह कहें
जान हथेली पर धरें कश्मीर के जिहादियों को कसें
उन्हें एफ आई आर के तोहफे अदब से पेश करें
दे की खिदमत के ये अंदाज-ए-वयाँ नायाब हैं
तभी तो पाकिस्तान परस्त भारत में कामयाब हैं।
बहुसंख्यक का खिताब जानी ओवेसियो अब्दुल्लाओ जिल्लत बन गया
अल्पसंख्यकों की ज्यादतियों का जालिम दौर जो है चल पड़ा।

                              Virendra Dev Gaur

                              Chief Editor (NWN)

Check Also

सीएम धामी ने प्रदेश वासियों को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर दी बधाई एवं शुभकामनाएं

देहरादून (सू0 वि0)। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को दी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.