Breaking News

एक राष्ट्र, एक चुनाव पूर्णतः राष्ट्र हित में: धामी

देहरादून (सूचना विभाग)। मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने मालसी स्थित होटल में आयोजित हिन्दुस्तान शिखर समागम में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर एक राष्ट्र एक चुनावपर पूछे गये सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि एक राष्ट्र, एक चुनाव पूर्णतः राष्ट्र हित में है। इससे बहुत सी सहुलियतें होंगी। ०५ सालों में अलगअलग समय पर कई राज्यों को चुनावों का सामना करना पड़ता है। लोकसभा, विधानसभा, पंचायतों, नगर निकायों के चुनाव अलगअलग समय पर होने से विकास बाधित होता और धन भी अधिक खर्च होता है। देश की उन्नति और एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना में देश को आगे ले जाने के लिए यह अच्छा कदम होगा। यह पूछे जाने पर कि उत्तराखण्ड में २०२७ में चुनाव हैं, एक देश एक चुनाव यदि देश में लागू होता है तो, राज्य में भी ०३ साल पहले चुनाव होंगे। क्या आप उसके लिए तैयार हैं मुख्यमंत्री ने इसके जवाब में कहा कि हां, निश्चित रूप से हम ऐसी राजनीतिक पार्टी में काम करते हैं, जहां देश प्रथम स्थान पर, पार्टी दूसरे नम्बर पर और व्यक्ति का हित अन्तिम स्थान पर होता है। जो भी फैसला देशहित में होगा, उसमें व्यक्तिगत चीजें कोई मायने नहीं रखती है। हमारे लिये राष्ट्रहित सर्वोपरि है। समान नागरिक संहिता को २०२४ से पहले राज्य में लागू किये जाने के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए बनाई गई कमेटी का ड्राफ्ट अंतिम चरण में है। ड्राफ्ट के मिलने के बाद इसे राज्य में लागू किया जायेगा। उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य होगा, जहां पर समान नागरिक संहिता का कानून लागू होगा। सभी पहलुओं पर यू.सी.सी की कमेटी कार्य कर रही है। इसका प्रभाव पूरे देश में जायेगा, सभी बातों का पूरा आंकलन करने के बाद ड्राफ्ट को अंतिम रूप दिया जा रहा है। अगर २०२४ से पहले कमेटी द्वारा ड्राफ्ट दिया जाता है तो, उसे लागू किया जायेगा। अतिक्रमण हटाये जाने के संबध में पूछे गये सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि वनभूमि एवं सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाया जा रहा है। सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि जिन स्थानों पर काफी समय से बसावटें हैं, उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न हो। ऐसी बसावटों को नियमित करने की दिशा में प्रक्रिया जारी है। नकल विरोधी कानून के सबंध में पूछे गये सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के साथ काफी समय से अन्याय हो रहा था, विभिन्न माध्यमों से नकल होने की शिकायतों पर जांच की गई। इसमें दोषी पाये गये ८० से अधिक लोगों को जेल भेजा गया। अभ्यर्थियों की क्षमता के अनुरूप उनका चयन हो, परीक्षाओं में पूरी पारदर्शिता बनाने के लिए राज्य में सख्त नकल विरोधी कानून लागू किया गया है। इस कानून के लागू होने के बाद अभी तक साढ़े पांच लाख से अधिक अभ्यर्थी प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग ले चुके हैं। सभी परीक्षाएं पूर्ण पारदर्शिता के साथ सम्पन्न हुई हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में नये हिल स्टेशन बनाये जाने के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि गढ़वाल एवं कुमाँऊ मण्डल में एकएक नये हिल स्टेशन बनाये जाने के लिए कार्य यौजना तैयार की जा रही है।

Check Also

मुख्य सचिव ने को सचिवालय में चारधाम यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की

देहरादून (सू0वि0)। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विजन के अनुरूप तथा निर्देशो के क्रम में …

5 comments

  1. Thank you for your sharing. I am worried that I lack creative ideas. It is your article that makes me full of hope. Thank you. But, I have a question, can you help me?

  2. I don’t think the title of your article matches the content lol. Just kidding, mainly because I had some doubts after reading the article.

  3. Can you be more specific about the content of your article? After reading it, I still have some doubts. Hope you can help me.

  4. Thank you for your sharing. I am worried that I lack creative ideas. It is your article that makes me full of hope. Thank you. But, I have a question, can you help me?

  5. I don’t think the title of your article matches the content lol. Just kidding, mainly because I had some doubts after reading the article.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *