Breaking News
ginger and basil

तुलसी व अदरक की खेती से लगेगी पलायन पर रोक

ginger and basil

उत्तरकाशी । राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय सुनाली में कक्षा 8 वीं में पढऩे वाली छात्रा प्रीति का मानना है कि यदि गांव में तुलसी व अदरक की खेती की जाय तो स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा और गांव से रहे पलायान पर भी रोक लग सकेगी। छात्रा ने शोध किया कि यदि एक किसान तीस हजार तुलसी के बीज लगाए तो वह एक वर्ष में लाखों रुपये कमा सकता है। राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय सुनाली की कक्षा आठ की छात्रा प्रीति का चयन इस वर्ष 2017 की राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए हुआ है। जिसमें प्रीति आगामी 25 दिसम्बर को गुजारात में होने वाली प्रतियोगिता में राष्ट्रीय बाल विज्ञान के मुख्य विषय संधारणीय विकास हेतु नवाचार विषय के अंतर्गत घरेलू जड़ी बूटियों पर अपना शोध प्रस्तुत करेंगी। प्रीति ने अपने शोध में बताया है कि गांव में गरीब लोग रहते हैं जो अपना उपचार महंगे एलोपैथिक दवाइयों से नहीं कर पाते हैं। जिसके कारण वह असमय ही कालग्रस्त हो जाते हैं। प्रीति ने कहा कि हमारे पूर्वज पारम्परिक भोज्य पदार्थों जैसे बाड़ी ,सीड़े ,ढिडके ,अस्के ,म_ा ,चूल्हे की रोटी, कुल्थाड़ी भटवाणी ,कंडाली की सब्जी और न जाने क्या क्या प्रयोग करते थे । जिससे वह सदैव सुखी जीवन यापन करते थे। प्रीति का मानना है कि आज विज्ञान ने काफी प्रगति तो की है लेकिन बीमारियां भी उसी गति से क्यों वृद्धि कर रही हैं ,कहीं ना कहीं हमारी पारंपरिक जीवन शैली ज्ञान पद्धति बाधित हुई है। जिससे हमने अपने पारंपरिक पद्धति को बदल दिया है।सरकारी विद्यालय पर जताया विश्वासराउप्रावि सुनाली में कक्षा आठ में पढऩे वाली प्रीति एक गरीब परिवार की बालिका है। जिसने प्राथमिक विद्यालय छाड़ा से कक्षा पांच उत्तीण कर प्राइवेट विद्यालय पर विश्वास न कर सरकारी विद्यालय पर भरोसा जताया । प्रीति ने अपने अध्यापन के साथ ही बाल विज्ञान कांग्रेस में प्रतिभाग किया और 2015 ,2016 और 2017 में राज्य स्तर के लिए इनकी परियोजना चयनित होती रही। प्रीति 2015 में जलवायु परिवर्तन एवं मौसम के अंतर्गत लाल चावल का घटता उत्पादन विषय पर, 2016 में संधारणीय विकास हेतु नवाचार के अंतर्गत वनऔषधी पर प्रस्तुत किया तो इस वर्ष 2017 में संधारणीय विकास हेतु नवाचार विषय के अंतर्गत घरेलू जड़ी बूटियों पर शोध प्रस्तुत कर राज्य से राष्ट्रीय स्तर के लिए चयन हुआ है। मार्गदर्शक शिक्षक चंद्रभूषण बिजल्वाण ने कहा कि प्रीति एक गंभीर छात्रा है। कहा कि छात्रा का राष्ट्रीय स्तर पर चयन होने के बाद से विद्यालय, ब्लाक, जनपद तथा राज्य का नाम रोशन हुआ है। छात्रा की इस कामयाबी पर विद्यालय के प्रधानाचार्य राम सिंह चौहान, प्रधान प्रेमलाल ,पूर्व प्रधान सोबेंद्र राणा,शिव प्रसाद नौटियाल, प्राथमिक शिक्षक संघ, जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ ,राजकीय शिक्षक संघ, सहित क्षेत्र के लोगो ने प्रीति को शुभकामनाएं एवं बधाई दी है।

Check Also

सीएम धामी से जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप ने की भेंट

देहरादून (सू0वि0)। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में 37वें नेशनल जूनियर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *