Breaking News
kartarpur

उपराष्ट्रपति नायडू ने रखी करतारपुर कॉरीडोर की आधारशिला

kartarpur

गुरदासपुर । उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने सोमवार को करतारपुर कॉरिडोर की नींव रख दी। यह कॉरिडोर भारत की सीमा से लेकर पाकिस्तान के करतारपुर स्थित श्री ननकाना साहिब तक बनना है। इस कार्यक्रम के दौरान कार्यक्रम स्थल पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल मौजूद रहे। समारोह के दौरान पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तानी सेना प्रमुख कमर बाजवा को सख्त चेतावनी दी। अमरिंदर ने कहा कि पाकिस्तानी सेना प्रमुख बाजवा याद रखें कि हमारी रगों में भी पंजाबियों का खून बहता है। अगर वह पंजाब में कोई गड़बड़ करने की कोशिश करेंगे तो उन्हें सबक सिखाया जाएगा। उन्होंने कहा, मैं पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का धन्यवाद करना चाहता हूं लेकिन इसके साथ ही पाकिस्तानी फौज के मुखिया जनरल बाजवा को एक संदेश भी देना चाहता हूं। मैं भी फौज में रहा हूं। यह जो पाकिस्तान में चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ हैं, वह सर्विस में मुझसे बहुत पीछे हैं। मैं तो जनरल मुशर्रफ से भी सीनियर हूं। उनका कमिशन 1964 में हुआ था मेरा 1963 में। यहां सीनियर जूनियर की बात करना जरूरी नहीं। मैं यह इसलिए कहना चाहता हूं कि हर फौजी को पता है कि दूसरा फौजी क्या सोच रहा है। कार्यक्रम के दौरान कैप्टन ने कहा, हम फौज में रहे हैं तो अपने देश की रक्षा हमेशा हमारे दिल में होती है। उनके दिल में भी यह होना चाहिए। यह किसने सिखाया है कि फौज में आप पाकिस्तानी सीमा से गोलियां चलाकर हमारे जवानों को गोली मार दो। यह किस ने बताया था कि पठानकोट या दीनानगर में घुसकर लोगों को और सेना के जवानों को मार दो। या मेरे अमृतसर के गांव में जहां लोग सुबह कीर्तन कर रहे थे वहां आप ग्रेनेड फेंककर उनको मार दो। कैप्टन ने कहा कि यह फौजियों की सीख नहीं है, यह कायरों की सीख है, यह बुजदिली है और और मुझे अफसोस है। सीएम ने कहा, बाजवा याद रखें कि अगर वह पंजाब में कोई गड़बड़ करने की कोशिश करेंगे तो सबक सिखाया जाएगा। हमारी रगों में भी पंजाबियों का खून बहता है। हमें इन्हें यहां नहीं आने देना है। हमारी सरकार ने 17 बार इनकी टोलियां यहां पकड़ी हैं। इनके 81 लोग हमने पकड़े हैं। 70 हथियार, ग्रेनेड पकड़े हैं, आईडी पकड़े हैं। आपको बता दें कि इससे पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान का न्योता ठुकरा दिया था। आज के भाषण में कैप्टन ने इसकी भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि स्वीकार नहीं करने के दो कारण हैं, पहला कारण यह है कि कोई भी ऐसा दिन नहीं है जब जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर भारतीय सैनिक मारे नहीं जाते या घायल नहीं होते। स्थिति सामान्य करने की राह पर बढऩे की बजाए ऐसी घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। उन्होंने दूसरा कारण गिनाते हुए कहा कि पकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने पंजाब में अपनी नापाक गतिविधियां शुरू कर दी हैं। सीएम कैप्टन ने कहा कि इसी दो कारणों से मैं पाकिस्तान नहीं जा रहा हूं। शिलान्यास से पहले कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने कहा कि आज देश में ऐसी सरकार है जिसकी बनाई हुई एसआईटी के कारण 1984 सिखों के दंगों के आरोपियों को सजा मिली। आज कोर्ट ने दो आरोपियों को सजा सुना दी है, वो दिन दूर नहीं जब सभी आरोपियों को सजा होगी। उन्होंने कहा कि 70 साल में देश में कई प्रधानमंत्री आए और गए लेकिन मोदी जी के आने के बाद ही ये कॉरिडोर बनाने का फैसला किया गया। केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का शुक्रिया भी अदा किया और करतारपुर बॉर्डर के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज गुरु नानक की वजह से दो देश अपनी कड़वाहट भूल कर साथ में आगे आए हैं। मोदी सरकार ने लंगरों से टैक्स लेना बंद किया, 1984 में कत्ल-ए-आम करने वाले आरोपियों को सजा मोदी सरकार ने दिलवाई, गुरु गोविंद सिंह की 350वीं जयंती, जलियांवाला बाग कांड के 100 साल और गुरु नानक देव की 550 जयंती को मोदी सरकार ने बड़े पैमाने पर मनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि यहां का जो काम 70 साल से रुका हुआ था, अब अगर नितिन गडकरी को मौका मिला है तो वह 70 दिन में ही विकास कर सकते हैं। 

Check Also

सीएम धामी ने प्रदेश वासियों को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर दी बधाई एवं शुभकामनाएं

देहरादून (सू0 वि0)। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को दी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.