Breaking News
Dry tree

एनएच किनारे खतरे का सबब बने सूखे पेड़

Dry tree

विकासनगर। दिल्ली- यमुनोत्री हाईवे किनारे सूखे पेड़ कभी भी हादसे का सबक बन सकते हैं। इनकी ओर न तो प्रशासन और न ही एनएच महकमा कोई ध्यान दे रहा है। स्थानीय लोगों ने चकराता वन प्रभाग से हाईवे किनारे खड़े सूखे पेड़ों को हटाने की मांग की है। दिल्ली- यमुनोत्री हाईवे क्षेत्र का अतिव्यस्त मार्ग है। इस मार्ग से जौनसार बावर क्षेत्र के सैंकड़ों गांवों के लोगों के साथ यमुनोत्री के लिए भी लोग सफर करते हैं। दिन में एक भी मिनट ऐसा नहीं बीतता, जब रोड खाली नजर आता हो। लेकिन, हाईवे पर विभिन्न प्रजातियों के पेड़ सूख गए हैं। इनमें कुछ तो सड़क के किनारे स्थित हैं। जो कभी भी हाईवे पर गिरकर हादसे का कारण बन सकते हैं। स्थानीय निवासी जवाहर सिंह, सिकंदर तोमर, सुभाष चंद, दया नेगी, मातबर सिंह, पदम सिंह, राजेन्द्र सिंह, सुखपाल सिंह, हीरा सिंह, लायक राम, विजय कुमार आदि का कहना है कि इन सूखे पेड़ों की ओर न तो वन विभाग ध्यान दे रहा है, और न ही एनएच के अधिकारी। जिससे ये पेड़ राहगीरों के साथ स्थानीय लोगों के लिए भी हादसों का सबब बने हुए हैं। बताया कि इससे पूर्व भी कई बार एनएच व वन विभाग के अधिकारियों से पेड़ों को हटवाने की मांग की जा चुकी है। लेकिन, कोई सुनने को तैयार नहीं है। उधर, संपर्क करने पर वन प्रभाग रिवर रेंज के आरओ बीडी सकलानी ने बताया कि मौके का निरीक्षण कर पेड़ों का कटवाया जाएगा। 

Check Also

उत्तराखंड में विजिलेंस को सशक्त बनाया जायेगा: धामी

देहरादून (सू0 वि0)। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को सर्वे चैक स्थित आई.आर.डी.टी सभागार …

Leave a Reply

Your email address will not be published.