Breaking News
child g65

बाल अधिकार संरक्षण आयोग से न्यायिक जांच की मांग

child g65

देहरादून (संवाददाता)। टिहरी में हुए स्कूल वाहन दुर्घटना को लेकर अभिभावकों ने राज्यपाल, सरकार और बाल अधिकार संरक्षण आयोग से न्यायिक जांच की मांग की है। देर शाम अभिभावकों ने ऋषिकेश एम्स पहुंचकर दुर्घटना में घायल बच्चों का हाल जाना। बुधवार को नेहरू कालोनी स्थित कार्यालय में नेशनल एसोसिएशन फोर पेरेंट्स एंड स्टूडेंट्स राइट्स (एनएपीएसआर) से जुड़े अभिभावकों ने टिहरी में वाहन दुर्घटना में मृतक मासूमों को श्रद्धांजलि दी। अभिभावकों ने कहा कि स्कूल की मान्यता, वाहन में ठूंसकर स्कूल भेजे जा रहे बच्चों को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारियों को मामला संज्ञान में लाना चाहिए था। विभागीय अधिकरी, पुलिस प्रशासन की सख्ताई नहीं होने पर बच्चों के साथ बड़ी घटना घट गई। उन्होंने अन्य अभिभावकों से भी वाहन में ज्यादा बच्चों के होने पर विभागीय अधिकारियों को सूचित करने के साथ ही जागरूक होने की अपील की। एसोसिएशन के अध्यक्ष आरिफ खान ने कहा कि ज्ञापन के जरिए राज्यपाल और बाल आयोग से दुर्घटना की मजिस्ट्रेट स्तर की न्यायिक जांच की मांग की गई है। दो दिन से भारी बारिश के बाद भी स्कूलों में छुट्टी घोषित नहीं की गई, दुर्घटनाग्रस्त वाहन की फिटनेस और वाहन में सीट और छात्रसंख्या के मानक की अनदेखी की गई। उन्होंने कहा कि बगैर मान्यता के चलते रहे स्कूल के पीछे विभागीय अधिकारी, पुलिस, बाल आयोग की मिलीभगत के लिए एसोसिएशन जल्द ही हाईकोर्ट जाएगा। वहीं देर शाम को अभिभावक ऋषिकेश एम्स पहुंचे और दुर्घटना में घायल बच्चों का हाल जाना। नवीन लिंगवाल, सुदेश उनियाल, धर्मेंद्र ठाकुर, दीपचंद वर्मा, अशोक सेमवाल, मनमोहन साहनी, मधु मारवाह, जीएस जस्सल, उमा सिसौदिया, हितेन्द्र सक्सेना, विश्वम्बर नाथ बजाज, सीमा नरूला, कविता खान आदि रहे।

Check Also

मुख्य सचिव ने को सचिवालय में चारधाम यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की

देहरादून (सू0वि0)। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विजन के अनुरूप तथा निर्देशो के क्रम में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *