Breaking News

बैंक कर्मियों ने रैली निकाल किया प्रदर्शन, बैंकों में लटके रहे ताले

देहरादून (संवाददाता)। बैंक ऑफ बड़ोदा, देना बैंक, विजया बैंक के आपसी विलय के प्रस्ताव के खिलाफ यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आह्वान पर प्रदेशभर में बैंक अधिकारी व कर्मचारी हड़ताल पर रहे। बैंककर्मियों ने रैली निकालकर केन्द्र सरकार को जमकर कोसा। उत्तराखण्ड की राजनधानी देहरादून में बैंक अधिकारी एवं कर्मचारी यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के बैनर तले परेड ग्राउंड में इक_ा हुए और वहां पर केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। इस दौरान कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि बैकों के विलय का लगातार जन विरोधी निर्णय केन्द्र सरकार द्वारा लिया जा रहा है, जिसे किसी भी दशा में सहन नहीं किया जायेगा। बैंक आफ बडोदा, विजया बैंक व देना बैंक के आपसी विलय के प्रस्ताव के खिलाफ हड़ताल की जा रही है। उन्होंने कहा कि पहले केन्द्र सरकार ने स्टेट बैंक के पांच सहयोगी बैकों का विलय स्टेट बैंक में किया था लेकिन बैकों की मूल समस्या बैकों में बढ़ते एपीए को कम करना था परन्तु आज तक स्टेट बैंक में विलय की वजह से कोई एनपीए कम नहीं हुआ है बल्कि बढ़ा है। उन्होंने कहा कि इस कारण बड़ी संख्या में शाखाओं, एटीएम को बंद किया गया जिसके कारण जहां जनता को नुकसान हुआ वहीं बड़ी संख्या में कर्मचारियों की छंटनी व उनका उत्पीडऩ हुआ है। उन्होंने कहा कि आज जब देश में नये छोटे-छोटे बैकों को सरकार लाइसेंस दे रही है तब इन बैकों को विलय कर बड़ा बैंक बनाने का कोई औचित्य नहीं है। उन्होंने कहा कि बडे कारपोरेट घरानों जिनका अस्सी प्रतिशत ऋण एनपीए है की रिकवरी के लिए कोई प्रयास नहीं किये जा रहे है जबकि इनसे ऋण वसूल करने के लिए कठोर कदम उठाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि चाहे व वेतन समझौता हो या अन्य मांगे बैंकों के आपसी विलय के विरुद्ध राष्टीय स्तर पर दिए गए कार्यक्रमों के अनुसार दून में केनरा बैंक के रीजनल आफिस के सामने भारी प्रदशन भी कर चुके है लेकिन केन्द्र सरकार कोई ठोस पहल नहीं कर पा रही है। उन्होंने कहा कि हड़ताल के बाद भी केन्द्र सरकार नहीं जागी तो आंदोलन को तेज किया जायेगा और जरूरत पड़ी तो अनिश्चितकालीन हड़ताल भी की जायेगी। अनेक वक्ताओं ने सभा को संबोधित किया। सभा के बाद बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ रैली निकाली जो परेड ग्राउंड से शुरू होकर एस्ले हॉल चैक, गांधी पार्क, घंटाघर, दर्शन लाल चैक, लैंसडाउन चैक होते हुए परेड ग्राउंड में पहुंचकर समाप्त हुई। सभा को जगमोहन मेंदीरत्ता, पीआर कुकरेती, हरि ओम रेखी, आरके गैरोला, आरपी शर्मा, बीपी सुन्दरियाल, कुन्दन सिंह, राजन पुंडीर, शार्दुल ढांैढियाल, राम कृष्ण गैरोला, मुरारी लाल नौटियाल, समदर्शी बड़थ्वाल आदि ने संबोधित किया। विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम में अनेक बैकों के अधिकारी व कर्मचारी शामिल रहे।

Check Also

मुख्य सचिव ने को सचिवालय में चारधाम यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की

देहरादून (सू0वि0)। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विजन के अनुरूप तथा निर्देशो के क्रम में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *