Breaking News

तालिबान ने किया सरकार बनाने का ऐलान, मुल्ला हसन अखुंद होंगे अफगानिस्तान के पीएम

काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर 15 अगस्त को कब्जा करने के करीब तीन सप्ताह बाद मंगलवार को तालिबान ने अंतरिम सरकार बनाने का ऐलान किया। तालिबान ने मंगलवार को कार्यवाहक सरकार के मंत्रिमंडल की घोषणा करते हुए मुल्ला हसन अखुंद को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है। मंत्रिमंडल में अमेरिका नीत गठबंधन और अफगान सरकार के सहयोगियों के खिलाफ 20 साल तक चली जंग में दबदबा रखने वाली तालिबान की शीर्ष हस्तियों को शामिल किया गया है। तालिबान के पिछले शासन के अंतिम वर्षों में अखुंद ने अंतरिम प्रधानमंत्री के तौर पर काबुल में तालिबान की सरकार का नेतृत्व किया था। अमेरिका के साथ वार्ता का नेतृत्व करने वाले मुल्ला गनी बरादर को उप प्रधानमंत्री बनाया जाएगा। बरादर ने अमेरिका के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये थे, जिसके तहत अमेरिका पूरी तरह अफगानिस्तान से बाहर निकल गया था।

इस सरकार में गैर-तालिबानियों को जगह दिये जाने की कोई जानकारी नहीं मिली है जबकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय की सबसे बड़ी मांग है कि अफगानिस्तान में समावेशी सरकार का गठन होना चाहिये। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने मंत्रिमंडल की घोषणा करते हुए कहा कि यह नियुक्तियां अंतरिम सरकार के लिये की गई हैं। उन्होंने यह नहीं बताया कि मंत्रिमंडल में शामिल लोगों का कार्यकाल कितना लंबा होगा और कैबिनेट में बदलाव के क्या मानदंड होंगे। अब तक, तालिबान ने चुनाव कराने का कोई संकेत नहीं दिया है।

तालिबान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि नई सरकार में मुल्ला याकूब नई सरकार में रक्षा मंत्री की भूमिका निभाएंगे और अमीर मुत्ताकी विदेश मंत्री बनेंगे। तालिबान की ओर से सिराजुद्दीन हक्कानी को गृहमंत्री बनाने का ऐलान किया गया है। इनके अलावा तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद उप सूचना मंत्री के रूप में काम करेंगे।

सरकार में किसको क्या मिले दायित्व?
मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद- प्रधानमंत्री
मुल्ला अब्दुल गनी बरादर- उप प्रधानमंत्री
मुल्ला अब्दुल सलाम हनफी- उप प्रधानमंत्री
मौलवी मोहम्मद याकूब मुजाहिद- रक्षा मंत्री
मुल्ला सिराजुद्दीन हक्कानी- आंतरिक मंत्री
अमीर खान मोत्ताकी- विदेश मंत्री
मुल्ला हिदायतुल्ला- वित्त मंत्री
शेख मौलवी नूरुल्ला मुनीर- शिक्षा मंत्री
मुल्ला खैरुल्ला खैरख्वा- सूचना और संस्कृति मंत्रालय
कारी दीन मोहम्मद हनीफ- अर्थव्यवस्था मंत्रालय
मौलवी नूर मोहम्मद साकिब- हज और अवकाफी
मौलवी अब्दुल हकीम शरिया- न्याय मंत्री
नूरुल्लाह नूरी- सीमा और जनजातीय मामलों के मंत्री
यूनुस अखुंदजादा- ग्रामीण विकास मंत्रालय
शेर मोहम्मद अब्बास स्टानिकजई- उप विदेश मंत्री

Check Also

तालिबानी करता अपनी मनमानी, पंजशीर घाटी के लिए दवाओं की सप्लाई रोकी

नई दिल्ली। पंजशीर घाटी पर कब्जे के लिए तालिबान ने अमानवीय कृत्य करना शुरू कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.