Breaking News
jan gan man

जन गण मन

jan gan man

राष्ट्र गान पर बढ़े कदम
पीछे क्यों खींचे
राष्ट्र आन पर बढ़े कदम
पीछे क्यों खींचे
राष्ट्र शान पर बढ़े कदम
पीछे क्यों खींचे
राष्ट्र जान पर बढ़े कदम
क्यों ठिठके
क्यों ठिठके।

यदि अधिनायक
राष्ट्र गान का
जान से बढ़कर प्यारा तिरंगा है
तो फिर इस गणतंत्र देश में
राष्ट्र गान पर ये कैसा पंगा है।

राष्ट्र गान अन्तर-आत्मा का
अमृत-राग हमारा है
शर्म जिसे गाने में इसको
वह पहला बैरी हमारा है
भारत माता की छाँव में
जिस मानव को रहना है
राष्ट्र गान गाना है उसको
जय भारत माँ कहना है।

कोई भी हो केन्द्र की सरकार
जो भी हो उच्चतम न्यायालय का अधिकार
राष्ट्र गान पर करोगे रार
तो
जनता की अदालत में पड़ेगी जूतों की मारा।

               Virendra Dev Gaur

                 Chief-Editor

Check Also

सीएम धामी ने प्रदेश वासियों को राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर दी बधाई एवं शुभकामनाएं

देहरादून (सू0 वि0)। राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश वासियों को दी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.