Breaking News

सुकमा जिले में रिपोर्टिंग करने गए 6 पत्रकार नदी के तेज बहाव में फंसे , ग्रामीणों की मदद से निकला गया बाहर

छत्तीसगढ़ । छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में 6 पत्रकार नदी के तेज बहाव की वजह से एक किनारे ही फंस गए। सभी सोमवार को रिपोर्टिंग के लिए नक्सलियों के इलाके में गए हुए थे, लौटते वक्त अचानक नदी का जलस्तर बढ़ गया और सभी नदी किनारे ही फंस गए। इधर, ग्रामीणों को जैसे ही इस बात की सूचना मिली, वह सभी तुरंत मौके पर पहुंच गए और सभी को रस्सी बांधकर नदी पार करवाया गया है। बताया गया कि पत्रकारों का रेस्क्यू करने में लगभग 4 घंटे का समय लगा है।

जानकारी के मुताबिक, सुकमा के पोलमपल्ली थाना इलाके के अतुलपारा में जिले के पत्रकार News कवरेज करने गए हुए थे। पोलमपल्ली से अतुलपारा पहुंचने के लिए न तो पक्की सड़क है और न ही नदी में किसी तरह का पुल बना हुआ है। किसानों की समस्याओं को जानने के लिए पत्रकारों ने पोलमपल्ली से अतुलपारा के बीच पड़ने वाली एक नदी को बाइक के माध्यम से पार किया। हालांकि उस समय नदी का जल स्तर काफी कम था। लेकिन चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ की वजह से हो रही तेज झमाझम बारिश से कुछ ही घंटों में नदी उफान पर आ गई थी।

उधर, जब पत्रकार शाम को कवरेज कर लौटने लगे तब नदी का जलस्तर बढ़ चूका था। काफी देर तक एक किनारे बैठ जलस्तर कम होने का इंतजार कर रहे थे। इसके बावजूद नदी का जलस्तर कम नहीं हुआ। वहीं अतुलपारा के ग्रामीणों को पत्रकारों के फंसे होने की जानकारी मिली। दर्जनभर से ज्यादा ग्रामीण मौके पर पहुंचे। जिसके बाद गांव के ग्रामीणों ने अतुलपारा की तरफ स्थित पेड़ में एक लंबी रस्सी बांधी, फिर नदी में छलांग लगा कर तैरते हुए दूसरे किनारे पहुंचकर रस्सी को मजबूती से बांधा गया। बाद में एक-एक कर सभी पत्रकारों को सुरक्षित तरीके से नदी पार करवाया गया।

Check Also

महोत्सव से होता है आपसी मेल-जोल और उत्साह का माहौल : अग्रवाल

-राजस्व मंत्री अग्रवाल ने किया जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला का शुभारंभ -एग्रीटेक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *