Breaking News

बच्चों ने किया पुस्तकों का आदान-प्रदान

रुडकी ,28 मार्च (आरएनएस)। नए शैक्षणिक सत्र में केंद्रीय विद्यालय क्रमांक 1 में पुस्तक उपहार कार्यक्रम के तहत कक्षा एक से ग्यारहवीं तक के बच्चों ने पुस्तकों का आदान प्रदान किया। बड़ी कक्षा में जाने वाले विद्यार्थियों ने अपनी पुस्तकें अपनी से छोटी कक्षा के विद्यार्थियों को उपहार में दी। स्कूल के पुस्तकालय में हुए कार्यक्रम का उद्देश्य पर्यावरण संरक्षण करना रहा। पुस्तकालयध्यक्ष पूनम कुमारी ने कहा कि कागज बनाने के लिए पेड़ काटे जाते हैं। अगर विद्यार्थी अपनी किताबें आपस में बदलेंगे तो इससे उन्हें नई किताबें नहीं खरीदनी पड़ेगी। नई किताब के लिए खर्च किये जाने वाला पैसे और कागज बनाने के लिए काटे जाने वाले पेड़ दोनों ही बचेंगे। कहा कि दुनिया भर में 40 प्रतिशत पेड़ केवल कागज बनाने के लिए काटे जाते हैं। 9 लाख टन से अधिक कागज विद्यार्थियों द्वारा वर्ष भर में प्रयोग किया जाता है। प्राथमिक विभाग की वरिष्ठ अध्यापिका कुसुम सैनी ने भी बच्चों को ज्यादा से ज्यादा किताबें उपहार देने के लिए प्रेरित किया। प्राचार्य वीके त्यागी ने कार्यक्रम में बढ़चढ़ कर प्रतिभाग करने के लिए छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि पर्यावरण संरक्षण के साथ साथ इससे बच्चो में एक दूसरे की सहायता करने की प्रवृति भी जागृत होगी। जो उनकी सामाजिक जिन्दगी को निखारेगा और उन्हें एक आदर्श नागरिक बनाने में मदद करेगा। इस दौरान गुलशन खान, शिवांगी जैन, सुशील कुमार, कुसम जोशी, विवेक रावत, नीलम आदि मौजूद रहे।

Check Also

उत्तराखंड में विजिलेंस को सशक्त बनाया जायेगा: धामी

देहरादून (सू0 वि0)। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को सर्वे चैक स्थित आई.आर.डी.टी सभागार …

Leave a Reply

Your email address will not be published.